Advertisement

बाइबिल कैसे पढ़ें?

www.mentorelife.com
www.mentorelife.com

बाइबिल कैसे पढ़ें?



बाइबल पढ़ना महत्वपूर्ण और समृद्धि भरा अनुभव हो सकता है। यहां एक सामान्य मार्गदर्शन है जो आपको शुरुआत करने में मदद करेगा:



1  एक बाइबल अनुवाद चुनें:

कई अनुवाद उपलब्ध हैं, हर एक के अपने अंदाज और समझने की क्षमता होती है। लोकप्रिय अनुवादों में सरल हिंदी बाइबिल, नवीं हिंदी बाइबिल , हिंदी होली बाइबिल, पवित्र बाइबिल CL bible (BSI), शामिल हैं। अपनी प्राथमिकताओं और समझ के अनुसार एक अनुवाद चुनने का विचार करें।



2  नया नियम पढ़ें:

बाइबल को दो मुख्य भागों में विभाजित किया गया है - पुराना नियम और नया नियम। नया नियम यीशु मसीह और प्रारंभिक मसीही समुदाय के शिक्षकों को संचालित करता है। शुरुआत करने वालों के लिए यहां शुरू करने की सलाह दी जाती है क्योंकि इसमें यीशु के जीवन, शिक्षा और मसीहीयो के सिद्धांतों पर ध्यान केंद्रित होता है।



3  पढ़ाई योजना बनाएं:

बाइबल में 66 किताबें हैं, इसलिए विभिन्न खंडों को नियमित रूप से कवर करने के लिए एक पढ़ाई योजना का पालन करना उपयोगी हो सकता है। पढ़ाई योजनाएं बाइबल अध्ययन मार्गदर्शिकाओं, आराधना-संबंधित पुस्तकों या ऑनलाइन संसाधनों में मिल सकती हैं। इन योजनाओं में दिन-प्रतिदिन किताबों या खंडों की निश्चित संख्या पढ़ने का सुझाव दिया जाता है, जिससे बाइबल का अध्ययन व्यवस्थित होता है।



4  संदर्भ और समझ की खोज करें:

बाइबल अलग-अलग ऐतिहासिक और सांस्कृतिक संदर्भ में लिखी गई थी, इसलिए प्रत्येक पुस्तक के पीछे की संदर्भ को समझना उपयोगी हो सकता है। स्टडी बाइबल, टिप्पणियां या ऑनलाइन संसाधनों का उपयोग करके ऐतिहासिक संदर्भ, लेखकता और पुस्तक का उद्देश्य समझने में सहायता मिल सकती है। यह बाइबल के संदेश और शिक्षाओं को समझने में मदद करेगा।



5  नोट्स बनाएं और विचार करें:

पढ़ते समय, नोटबुक रखें और महत्वपूर्ण पद, विचार, प्रश्न या दर्शनों को लिखें। यह आपको सोचने पर मजबूर करेगा कि आपने क्या सीखा है और बाद में महत्वपूर्ण पाठों को दोहराने में मदद करेगा। व्यक्तिगत विचार और ध्यान में लगने से आपकी समझ और पाठ के साथ संबंध गहरा होगा।



6  एक अध्ययन समूह में शामिल हों या मेंटर ढूंढें:

दूसरों के साथ बाइबल अध्ययन में शामिल होना और दर्शनों और प्रकाशनों का लाभ उठाना उपयोगी हो सकता है। अपने प्रार्थना स्थल पर स्थानीय अध्ययन समूह की खोज करें या ऑनलाइन समुदाय में शामिल होने का विचार करें। मेंटर (एक गुरु) या अनुभवी मार्गदर्शक का होना कठिन पाठों को समझने या मसीही सिद्धांतों को समझने में भी सहायक हो सकता है।



7  मार्गदर्शन के लिए प्रार्थना करें:

प्रार्थना मसीहियो का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। बाइबल पढ़ने से पहले, बुद्धिमत्ता, समझ और मार्गदर्शन के लिए एक प्रार्थना करें। आपकी जीवन में सिद्धांतों को समझने और लागू करने में पवित्र आत्मा की मदद के लिए प्रार्थना करें।



ध्यान दें, बाइबल पढ़ना एक जीवनभर की यात्रा है, महत्वपूर्ण बात है कि आप नियमित रूप से बाइबिल के साथ जुड़ें, समझ प्राप्त करें और शिक्षाओं को अपने जीवन में लागू करने का एक साधन बनाएं।


============================

हमारी वेब साईट पर आने के लिए आपका शुक्रिया आप हमारे व्हात्सप ग्रुप में जुड़ सकते है जिससे आप रोजाना इस तरह से प्रभु के वचनों को प्राप्त कर सकते है


हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़े👇🏻

mentore life whatsapp